General

माफ करो और भूल जाओ! – BY BALAM MOHLA

माफ करो और भूल जाओ!

फिल्म उद्योग को लेकर लोगों में कई प्रकार की भ्रांतियां हैं। लोग समझते हैं कि यह चकाचौंध की दुनिया है। माननीय संवेदनाएं यहां नहीं रहती है। यहां पर फिल्मी परिवारों का ही दबदबा रहता है, जो कामयाब होते हैं उनको ही काम मिलता है, एक दूसरे का कोई सहयोग नहीं करता है। लेकिन ऐसा नहीं है यह सब गलत है। मैं तो यही कहूंगा इस उद्योग में भी कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो मानवीय संवेदनाओं को समझते हुए दूसरों का सहयोग करते हैं।

ऐसे ही एक है सलीम खान जी।

सलीम अब्दुल राशिद खान फिल्म उद्योग के जाने हुए लेखक हैं, जिन्हें हम सलीम जावेद की जोड़ी से भी पहचानते हैं। वह सुपरस्टार सलमान खान के पिता भी है।

सलीम खान ने गीता, कुरान, बाइबल, रामायण आदि सबको बहुत अच्छी तरह से पढ़ा है,समझा है । क्राइस्ट ने एक जगह बोला है forgive & forget (माफ करो और भूल जाओ)। सलीम खान ने ना केवल इसको माना बल्कि जिसने भी उनके साथ गलत किया उसे माफ किया और उसकी मदद भी की।

एक फिल्म निर्माता थे जिसका नाम नहीं लूंगा (क्योंकि सलीम जी को बुरा लगेगा) उन्होंने 1960 में अपनी फिल्म में सलीम खान को अभिनेता के रूप में लिया था। फिल्म थोड़ी बनी भी। उस समय सलीम खान को कोई पहचानता नहीं था। उस फिल्म निर्माता को एक बड़ा अभिनेता मिल गया तो उन्होंने सलीम खान को फिल्म  से निकाल दिया और कोई पैसा भी नहीं दिया।

आगे चलकर सलीम खान बहुत बड़े लेखक बन गए। उनकी जोड़ी जावेद के साथ दुनिया में पहचानी जाने लगी। बेटा सलमान खान भी अब एक सुपरस्टार बन गया था। उस फिल्म निर्माता की चार पांच फिल्में खूब चली लेकिन उसके बाद उनकी फिल्में फ्लाप होती चली गई।

चूंकि उस समय मोबाइल फोन नहीं थे, सलीम खान के लैंडलाइन पर एक फोन आया उसी फिल्म निर्माता का। और बोले कि मैं….. बोल रहा हूं। में अपने किए पर बहुत शर्मिंदा हूं इसके लिए मुझे मिलने में शर्म आ रही थी इसलिए मैंने फोन लगाया। कहने लगे कि मेरी आर्थिक स्थिति इस समय बहुत खराब है, इस समय आप ने मदद नहीं की तो मैं कुछ भी कर सकता हूं। तो सलीम खान ने उनसे कहा आप बताएं मैं आपकी क्या मदद कर सकता हूं। तो वह बोलें यदि आपका बेटा सलमान मेरी फिल्म में काम करेगा तो मुझे बहुत मदद मिलेगी, मुझे फिर से जीवनदान मिल सकता है। तब सलीम खान ने उनसे कहा कि यदि इससे आपको मदद मिल सकती है तो निश्चित ही सलमान आपकी फिल्म में काम करेगा। आप निश्चित रहे ।

डिनर के समय सलीम खान ने सलमान से कहा कि कल वह… निर्माता आ रहे हैं और तुमको उनकी फिल्म में काम करना है।

यह सुनकर सलमान ने कहा कि डैडी आप क्या बोल रहे हैं? आप जानते हो कि उन्होंने उस समय आपको अपनी फिल्म से निकाल दिया था। तब सलीम खान ने सलमान को डांटते हुए कहा.. अरे ऐसा नहीं सोचते,कल जब तुम इनसे मिलो तो उन्हें अंकल ही बोलना जैसे बचपन में बोलते थे। और वह सब छोड़ो तुम्हें उनकी फिल्म करना ही है। और हां कहानी अच्छी ना लगे तब भी। फीस भी पांच सात लाख तक कम लेना। उसके बाद सलमान खान ने फिल्म की, फिल्म चली भी बहुत। उसके बाद उन निर्माता की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ हो गई। 

 तो ऐसे हैं सलीम खान जी!

सलीम खान के पिता अब्दुल राशिद खान अंग्रेजों के समय मैं इंदौर के डीआईजी थे उनको जो भी संस्कृति और संस्कार मिले यहीं से मिले। उनका मानना है कि आपके साथ अगर कोई गलत करें तो आपको गलत नहीं करना है बल्कि अपना धर्म निभाते हुए हरदम अच्छा ही करना चाहिए।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button