Joy of Giving

युवा व्यक्तित्व: हमारा प्रेरणा श्रोत; परमार्थ में सुख की युवा अभिलाषा

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है और समाज में रहकर, समाज के हित में सोचना और कार्य करना ही एक सच्चे इंसान की निशानी होती है। दूसरों के लिए हमदर्दी और कुछ कर गुजरने में उम्र का कोई बंधन नहीं होता है ।

नितिन जैन ( मोनू) जी

जी हां आज हम आपका परिचय ऐसे नौजवान से कराने जा रहे हैं जो मध्यम वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हुए, निरंतर धार्मिक एवं सामाजिक कार्यों में अपनी निजी पारिवारिक जिम्मेदारियों को निभाते हुए लगे रहते हैं ।

हम बात कर रहे हैं इंदौर (मध्य प्रदेश) के अन्नपूर्णा क्षेत्र के वार्ड नंबर 81 सूर्यदेव नगर में रहने वाले नितिन जैन ( मोनू) जी की,जो अपनें सामाजिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करते चले आ रहें हैं। मोनू जी से एक मुलाकात पर उनके द्वारा किए जा रहे कार्यों को लेकर बात की …….

आपको समाज के लिए कार्य करने की प्ररेणा कब और कहां से मिली?

में एक सामान्य धार्मिक परिवार से हूं, बचपन से ही मंदिर और घर के संस्कार से जाना कि सब प्राणी एक ईश्वर की संतान हैं और सबको जीने का हक है।बस यही सोच और भावना से समाज के लिए जो भी संभव है, करने की कोशिश कर रहा हूं। आप किस तरह से समाज हित में कार्य कर रहे हैं? में अपनी शक्ति और स्थिति के अनुसार कार्य कर समाज की सेवा में लगा हुआ है जैसे कि –

यात्री प्रतीक्षालय …. अन्नपूर्णा क्षेत्र के गोपुर चौराहे एवं चाणक्य पुरी चौराहे पर बस स्टेंड ना होने के कारण महिलाओं एवं बच्चियों को तपती धूप, बरसात में परेशानियों का सामना करना पड़ता था। उनकी परेशानियों को समझते हुए और इस समस्या का हल निकालने के लिए 7 दिन तक एक हस्ताक्षर अभियान चलाकर जिला कलेक्टर, अटल पब्लिक ट्रांसपोर्ट और बिलावली जोन में ज्ञापन दिया और अंत में क्षेत्र के विधायक जीतू पटवारी के सहयोग एवं मार्गदर्शन में यात्री प्रतीक्षालय बनवाया जिससे महिलाओं एवं बच्चियों को होने वाली परेशानी से छुटकारा मिला।

वृक्षारोपण ……पर्यावरण और बढ़ते प्रदूषण से शहर को सुंदर स्वच्छ बनाने के लिए “एक घर एक पेड़” नामक अभियान चलाकर क्षेत्र के लोगों को निशुल्क पौधे,खाद, जाली आदि उपलब्ध कराकर उन्हें पौधों की सुरक्षा हेतु जागृत किया ।

नि:शुल्क महिला ड्राइविंग लाइसेंस..महिला सशक्तिकरण को मजबूत करने उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से क्षेत्र की महिलाओं एवं बेटियों को यातायात के सामान्य नियमों से परिचित कराने के उद्देश्य से चाणक्यपुरी चौराहे पर एकत्रित करके उन्हें ट्रैफिक नियमों का प्रशिक्षण देकर, आरटीओ ऑफिस लें जाकर उनके निशुल्क ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने में मदद की। अभी तक हजारों महिलाओं एवं बेटियों के निःशुल्क लाइसेंस बनवा चुका हूं ।

निशक्त महिलाओं को सशक्त बनाने हेतु उन्हें E Rikswa के माध्यम से रोजगार उपलब्ध करवाया। जिससे वह अपनी आजीविका चला सकें और अपने पैरों पर खड़ी होकर आत्मनिर्भर बन सकें ।

कोरोना वैश्विक महामारी के समय खुद कोरोना पाजिटिव होते हुए भी अपनी जान जोखिम में डालकर रहबासियों की मदद करने में लगा रहा। वार्ड नं 81के हर घरों में अपने साथियों के साथ जाकर अपने हाथों से सैनेटाइजेशन अभियान चला कर घरों को सैनेटाइज किया जो भी कोरोना वायरस की चपेट में आया उसकी भरपूर मदद की,मास्क का वितरण किया,जब लोग भय से अपनी जांच कराने में डर रहे थे तब उन लोगों को समझा कर अस्पताल में जांच कराई। टीकाकरण के समय लोगों से सम्पर्क कर उन्हें वैक्सीनेशन के लिए जागरूक किया।

इसके अलावा अपने क्षेत्र के निवासियों की जो भी समस्याएं सामने आती है, उन्हें अपने साथियों के साथ मिलकर हल करने की भरसक कोशिश करता हूं .. जैसे कि बिजली घरों से होने वाली समस्याओं का समाधान, नगर निगम से संबंधित , दिव्यांगों , विधवा एवं वृद्ध पेंशन आदि।

आपके परिवार में आपको किस तरह से सहयोग मिलता है?

परिवार में पिता एवं मां का आशीर्वाद एवं पत्नी और बच्चों का समर्थन रहता है।सब लोग मेरे द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हैं।

आपको आपके कार्यों के लिए कभी सम्मान प्राप्त हुआ?

कई सामाजिक संस्थाओं द्वारा समय समय पर सम्मानित किया गया है । अभी हाल ही में मध्य प्रदेश सरकार द्वारा स्वर्गीय राजीव गांधी राष्ट्रीय स्मृति सम्मान, धार्मिक संगठनों द्वारा कई बार सम्मानित किया गया।

समाज के लिए आप क्या संदेश देना चाहेंगे?

मोनू जी का कहना है कि हम सब को अपने स्तर से समाज के लिए जो भी बन सके सकारात्मक ऊर्जा से, सच्चे जनसेवक बनकर लोक सेवा, जन सेवा और समाज सेवा में लगे रहना चाहिए और जो भी योजनाएं सरकार द्वारा जनहित की हो उन्हें आम जन तक पहुंचाने का प्रयास करते रहना चाहिए।


Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button